17 Sep

Janani Shishu Suraksha Yojana

जननी शिशु योजना वर्ष 2005 में शुरू की गयी थी | इस योजना को 1 जून 2011 को जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का नाम दिया गया | इस योजना का उद्देष्य बच्चों की मृत्यु दर घटाना है | इस कार्यक्रम के अंतर्गत निःशुल्क जांच, निःशुल्क वाहन की सुविधा के साथ साथ संस्थागत प्रसव होने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामूहिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सदर अस्पतालों में सहयोग राशि के रूप में ग्रामीण छेत्र में 1400 रूपए एवं शहरी छेत्र में 1000 रूपए देने का प्रावधान है |

हमारे सिटीजन केयर कॉल सेंटर में कॉल आया जो राजापाकर ब्लॉक के भलुई पंचायत के मिथलेश राय की थी | उनका कहना था की उनकी पत्नी का दो बार प्रसव संस्थागत रूप से दिनांक 27 /10 /2016  एवं 02 / 09 /2019 को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर में हुआ था | लेकिन जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के तहत मिलने वाली राशि के भुगतान उन्हें अभी तक नहीं मिला था | राशि के भुगतान हेतु उन्होंने अपने दस्तावेज कई बार जमा कर चुके थे | इस सम्बन्ध में वो सम्बंधित सरकारी कर्मचारी से भी मिल चुके थे लेकिन वो अपशब्दों से अपमानित कर भगा दिए जाते थे |

इस जानकारी के बाद हमने लोक शिकायत निवारण अधिनियम के तहत दिनांक 28 /05 /2019 को शिकायत दर्ज की | इस शिकायत की अनन्य संख्या 999990128051967188 है | इस शिकायत की 4 सुनवाई हुई जिसमे मिथलेश राय जी ने अनुमंडलिय लोक शिकायत निवारण कार्यालय महुआ वैशाली में उपस्थित होकर सपना पक्ष रखा  लेकिन इस योजना से सम्बंधित कर्मचारी अनुपस्थित रहे | इसकी अंतिम सुनवाई 29 /08 /2019  को हुई जिसमे मिथलेश राय तो उपस्थित हुए परन्तु योजना सम्बंधित कर्मचारी फिर नहीं आये | अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थय केंद्र राजापाकर के कर्मचारी से फोन पर बातचीत की गई जिसमे प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र राजापाकर के कर्मचारी ने बतया की मधुमाला कुमारी का जननी शिशु सुरक्षा कार्यकर्म का प्रोत्साहन राशि 27/08 /2019 को भेज दिया गया है।

हमारे समाज की विडम्बना यह है की एक छोटी सी राशि के लिए भी लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है | अभी भी हमारे जिले में बहुत सारी महिलाएं हैं जिन्हें जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम की प्रोत्साहन राशि से वंचित रखा जा रहा है | हमारा संघर्ष जारी है | उम्मीद करते हैं की जल्द ही इस योजना से वंचित महिलाओ को लाभ दिलाने में सफल होंगे |

इस विषय में अगर आपलोग अपने कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें  |